Friday, March 1, 2013

Git Hai Dil ki Sada-Geet aur kavita-15


गीत है दिल की सदा हर गीत गाने के लिए गुनगुनाने के लिए सबको सुनाने के लिए  ज़ख़्म रहता है कहीं और टीस उठती है कहीं दिल मचलता है तभी कुछ दर्द गाने के लिए  फूल की पत्ती से नाज़ुक गीत पर मत फेंकिए बेसुरे शब्दों के पत्थर आज़माने के लिए

Post a Comment

Featured post

What is Vastu Shastra? | वास्तु शास्त्र

वास्तु शास्त्र  वस्तु शास्त्र की जानकारी वास्तु शास्त्र से धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष की प्राप्ति- वास्तु शास्त्र ज्ञान-विज्ञान व क्रियात्...