Search This Blog

Suvichar-Anmol-Vachan

 सुविचार 

(अनमोल वचन)


ऐसे बहुत से सुविचार होते हैं जो दिल और दिमाग को शांति और खुशी का अहसास देते हैं। वैसे तो ये बहुत छोटे छोटे वाक्य में होते है लेकिन इनके अर्थ बहुत ज्ञानवर्दक होते हैं। इसके रस और सार को अनके व्यक्ति दिमाग और सोचने की क्षमता के अनुसार तथा नजरिए से अलग-अलग लगाते हैं उनको एक ही भाव समझ में आता है वह यह कि सविचार दिल और दिमाग को शांति और खुशी प्रदार करके हमारे ज्ञान को बढ़ाता है। बहुत से ऐसे भी सुविचार होते हैं जिनसे हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है इन्हें अपने जिंदगी में अपनाना चाहिए।
सविचार (अनमोल वचन) को पढ़ने से हमें वह संदेश प्राप्त हो जाता है, जो किसी भी मोटे किताब से भी नहीं प्राप्त होता। यदि आप यह देखना चाहते हैं कि अनमोल वचन अथार्त सुविचार का हमारी जिंदगी पर क्या प्रभाव होता है, तो इसे अपने के आस पास किसी दीवार पर लिख दें, इसे रोज देखें। इससे आपको कुछ ही दिनों में महसूस होने लगेगा कि जिंदगी में कुछ अच्छा बदलाव आने लगा है।

कुछ अनमोल विचार के लिंक:-

1. धर्म कोई भी हो हमें सभी धर्म का सम्मान करना चाहिए क्योंकि ईश्वर कभी भी किसी को हिंदू, मुस्लमान, सिख और ईसाइ बनाकर नहीं भेजता है। 
2. ईश्वर को सभी धर्मों में अलग अलग नामों से पुकारा जाता है लेकिन मेरे सोच के अनुसार वह अनेक होते हुए भी एक है इसलिए हमें कभी भी आपस में बैर नही रखना चाहिए सभी के धर्मों का सम्मान करना चाहिए। 
3. कोई कहता है कि में हिंदू हूं और कोई कहता है कि में मुस्लमान हूं, कोई कहता है कि में सिख हूं और कोई कहता है कि में ईसाई हूं लेकिन मैं गर्व से कहता हूं कि मैं एक हिंदूस्तानी हूं क्योंकि चाहें कोई किसी भी धर्म का क्यों न हो यदि वह भारत में पैदा हुआ है तो उसका जन्म स्थल भारत का ही कहलायेगा तो हुआ न कि हम हिंदूस्तानी हैं। 
4. कहते है कि ईश्वर एक है लेकिन रूप अनेक हैं वह कहीं राम तो कहीं कृष्ण, कहीं भगवान शिव कही विष्णु के रूप में दिखाई देते हैं। हम इन्हे क्यों पूजते हैं? इसका उत्तर एक ही मिलेगा कि वे इस संसार में प्रेम और सिर्फ प्रेम तथा जनकल्याण के लिए काम किएं है इललिए वे आप पूजे जाते हैं। 
5. जिस प्रकार से प्रेम एक इसके रूप अनेक होते हैं ठीक उसी प्रकार से ईश्वर एक इसके रूप अनेक होते हैं। क्योंकि आपने देखा होगा कि एक मां आपने बच्चों से कैसे प्यार करती है और एक प्रेमी आपने प्रेमिका से तथा एक भाई अपने बहन से और एक बाप अपने बच्चों से तथा एक शिक्षक छात्र से, सब का प्यार देखने में अलग होता है लेकिन है तो वह प्यार ही। 
ऋग्वेद के अनुसार ईश्वर एक है लेकिन दृष्टिभेद से मनुष्यों ने उसे भिन्न-भिन्न रूपों में देखा है। जिस प्रकार एक व्यक्ति दृष्टिभेद के कारण परिवार में अपने लोगों द्वारा पिता, चाचा, भाई, फूफा, मामा, दादा, भतीजा, बहनोई, पुत्र, पोता, भांजा, नाती आदि नामों से संबोधित होता है, उसी प्रकार से ईश्वर भी अनेक रूपों में देखा तथा जाना जाता है।
     Mahtma Gandhi  | Lord Buddha | Swami Vivekanand   |  Chanakya
    Friends Quotes   |  Sai Baba    |  Aristotle   |   APJ Abdul Kalam
    Hindi suvichar  |  English Quotes    |  Success Quotes    |  Amrit Vani
    Love Quotes  |  Facebook Imges   |   Fastival Quotes   Kavita
    Lord Mahavir   |  Gita Quotes    |  Lord Krishna   |  Great Thought
    Ambani  |  Atal bihari Vajpayee    |   Nature Quotes   |  Beauty Qutes
    Saty Vachan  |  Tulsi Das    |  Kabir Amrit Vani   |  Bhakti Sagar
    Gru Nanak Dev  |  Chacha Neharu    |  Indra Gandhi  |  Ras Lila
    1       3    4    5    6       8    9    10    
Post a Comment

AddToAny

Second Class - American English - Did

Rule of did in American English Speaking Course Rule of Did I/ You/ He/ She Action (II-nd)... I/ You/ He/ She din’t Action (I-...

All Categories

Krishna Suvichar    |    Gandhi Quotes   |    Buddha Suvichar   |    Vivekanand Suvichar   |    Chankya Suvichar   |      |    Sai Baba Suvichar   |    Aristotle Quotes   |    Bharat   |    Hindi Suvichar   |    Quotes in English   |    Success Thoughts   |    Amrit Vani   |    Mahavir Suvichar   |    Krishna Updesh   |    Great Thoughts   |    Ambani Quotes   |    Atal Bihari Suvichar   |    Nature Quotes   |    Beauty Quotes   |    Satya Vachan   |    Tulsi Anmol Vachan   |    Bhakti Sagar   |    Guru Nanak Dev Suvichar   |    Hindi suvichar   |    English suvichar   |    Sai Anmol Vachan   |    Good thought   |    Bhakti Sagar   |    Friend Suvichar   |    Success thought   |    Great thoght   |    Saty Vachan   |    Amarit Vani   |    Kabir Vichar   |    Kavita   |    Tulsi Das Vichar   |    Gru Nanak ke Pad   |    Vivekanand   |    Ram Krishan Paramhans   |    English Quote   |    Beauty Quotes   |    Mahatma Gandhi   |    Chankya    |    Raas Lila   |    Nature Quotes   |    APJ Adul Kalam   |    Khas Vichar   |    Ambani Quotes   |    Jwahar Laal Neharu   |    RavindraNath Taigor   |    Mother Teresha   |    Sai Baba Quotes   |    Lord Mahavir Ji   |    Soor Das Ke Pad   |    Ras Khan ke Dohe   |    Indara Gandhi   |    Shri Gru Nanak   |    Aristotle Quotes   |    Atal Bihari Vajpayee   |    Aansoo Ke Poem   |    Chankya Quotes   |    Tumhari Ankhon Ke Poem   |    My Love Poem   |    Dosti Anmol Vachan   |    Sai Baba suvichar   |    Chankya suvichar   |    Lord Krishna   |    J L Neharu suvichar   |    Mahatma Buddha   |    Atal bihari suvichar   |    Indara Gandhi quotes   |    Buddha Anmol Vachan   |    Hare Krishna Vichar   |    Arastu ke Vichar   |    Chankya Vichar   |    Indara Gandhi Vichar   |    Sai Baba Vachan   |    Lord Buddha Quotes   |    Vivekananad Vachan   |    Gandhi Anmol Vachan   |    Lord Vishanu Arti   |    Veshno Devi Arti   |    Lakshmi Ji Arti   |    Hanuman ji Arti   |    Sai Baba Arti   |    Ram Ji Arti   |    Radhi Krishna Arti   |    Santoshi Mata Arti   |    Mata Ka Jaikar   |    Shiv Ji Arti   |    Ganesh ji Arti   |    Sundarta ke Vichar   |    Quotes in English   |    Suvichar in Hindi   |    Doha   |