Friday, April 26, 2013

Sai Baba suvichar- Sai Anmol Vachan

Sai Baba suvichar

sai anmol vachan

Why fear when I am here?

मेरे रहते डर कैसा?-Sai Baba

I think of my people day and night. I say their names over and over. 
I am formless and everywhere.
मैं निराकार हूँ और सर्वत्र हूँ.-Sai Baba

sai anmol vachan 
I am in everything and beyond. I fill all space.

मैं हर एक वस्तु में हूँ और उससे परे भी. मैं सभी रिक्त स्थान को भरता हूँ.-Sai Baba


Post a Comment

Featured post

What is Vastu Shastra? | वास्तु शास्त्र

वास्तु शास्त्र  वस्तु शास्त्र की जानकारी वास्तु शास्त्र से धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष की प्राप्ति- वास्तु शास्त्र ज्ञान-विज्ञान व क्रियात्...