Nafrat Shayari in Hindi Collection for You

 Nafrat Shayari in Hindi

आजकल बहुत से युवा है जो nafrat shayari को Search करते रहते हैं। उनकी सहुलियत के लिए यहां पर Nafrat Shayari in Hindi Collection दी जा रही है। क्या आप जानते हैं कि वे कौन से युवा होंगे जो इस प्रकार के Shayari को Search करते रहे हैं। नहीं ना। चलिए हम आपको बताते हैं कि वे कौन से युवा है जो Nafrat Shayari ढूंढते रहते हैं तथा उसे Like भी करते हैं। बहुत से युवा आपको मिल जायेंगे जो कभी न कभी अपने जीवन में किसी न किसी से अपने जान से भी ज्यादा प्यार करते हैं। लेकिन किसी वाद या विवाद के कारण उनके प्यार भरा जीवन बिखर जाता है। वे जिससे BreakUp करते हैं उनके गम में Nafrat Shayari पढ़ते है तथा कभी कभी तो वे अपने Ex-Partner को भी इस प्रकार की चीजे Share कर देते हैं।

हम ऐसे युवा से एक ही बात कहना जाहेंगे कि जिंदगी केवल चार दिनों की है किसी के गम में बिताने से अच्छा है कि आप किसी और Partner को ढूंढ लें और उनके साथ समय बितायें। ये जिंदगी भगवान ने खुशी-खुशी बिताने के लिये दिया न किसी किसी के चक्कर में आकर जिंदगी को बरबाद करने के लिए। फिर भी यदि आप Nafrat Shayari in Hindi Collection पढ़ना चाहते हैं तो आपके लिए नीचे कुछ नफरत की शायरी दी जा रही है। आप इसे पढ़ें और हो सके तो अपनी खुशियों को ढूंढने की कोशिश करें।

नफरत शायरी

Nafrat Shayari in Hindi Collection

 

Samjh नहीं आता किस पर Bharosa करू
Samjh नहीं आता किस पर Bharosa करू
यहां तो लोग Nafart भी करते Pyar की तरह


हाथ धोते जा रहे है Sahib जरा
हाथ धोते जा रहे है Sahib जरा
Dil भी धो लिया कीजिए
Nafarte भी तो किसी बीमारी की तरह फैल रही है


Matalabi जमाना है Naphrton का कहर है
Matalabi जमाना है Naphrton का कहर है
यह Duniya दिखाती शहद है Pilati जहर है


Kaun कहता है कि सिर्फ Naphrton में ही दर्द है
Kaun कहता है कि सिर्फ Naphrton में ही दर्द है
Kabhi-Kabhi बेपनाह Mohabat भी दर्द देती है


वो नहीं Milti तो अच्छा था 

Bekar में मोहब्बत से Nafart हो गई


Pyar करना सीखा हैं Napharaton का कोई ठोर नहीं
Pyar करना सीखा हैं Napharaton का कोई ठोर नहीं
बस तू ही तू है इस Dil में दूसरा कोई और नहीं


सबके दिलों में Dhadakna जरूरी नहीं होता Sahab
सबके दिलों में Dhadakan जरूरी नहीं होता Sahab
कुछ लोगों के आंखों में Khatakne का भी एक अलग Majja है


उसको Nafrat थी Bewaphon से कैसे खुद से Nibha रहा होगा
उसको Nafrat थी Bewaphon से
कैसे Khud से Nibha रहा होगा 

 

एक Nafart है जिसको पल भर में Mahasoos कर लिया जाता है
और
एक Prem है जिसका यकीन दिलाने के लिए सारी Jindgi भी कम पड़ जाती है


Must Read: Akelapan Shayari in Hindi Collection for You

 


 

Post a Comment

0 Comments