Hindi Diwas Quotes and Slogan | हिंदी दिवस सुविचार

हिंदी दिवस सुविचार

नम्कार दोस्तों, आप सभी को हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ (Happy Hindi Diwas)। भारत में हर साल 14 सितंबर को Hindi Diwas के रूप में मनाया जाता है। वैसे तो भारत में लगभग 136 करोड़ रहते हैं और उनमें से लगभग 57.09% लोग हिंदी भाषा (Hindi language) के रुप में ही बातचित करना पसंद करते हैं। वैसे भारत में आज के समय में 415 भाषाएं अभी भी बोली जाती है। भारत के केंद्र सरकार के पास लगभग 23 संवैधानिक मान्यता प्राप्त आधिकारिक भाषाएं। भारत में सबसे ज्यादा काम में उपयोग में ली जाने वाली भाषा Hindi और English है।

चूंकि 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा (Constituent Assembly) की ओर से दी प्रस्ताव के अनुसार हिंदी भाषा (Hindi language) को भारत के केंद्र सरकार अधिकारिक भाषा के रुप में शामिल कर लिया गया था। इसके बाद Hindi language को प्रत्येक क्षेत्र में प्रसारित करने के लिए 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष Hindi Diwas के रुप में मनाया जाने लगा। हमें भी हिंदी भाषा का सम्मान देना चाहिए। चूंकि देश के लगभग 57.09%  हिंदी भाषा को जानते हैं और उनकों सम्मान देने के लिए इतना तो हम कर ही सकते हैं। चलिए दोस्तों हम नीचे आपके लिए कुछ Hindi Diwas के Suvichar प्रस्तुत कर रहे हैं। यदि आपको अच्छा लगे तो इसकों सभी लोगों के साथ share करें-

Hindi Diwas Quotes और Slogan 

Hindi Diwas Quotes and Slogan

Hindi Diwas Par Humne Thana Hai,
Logon Men Hindi Ka Swabhiman Jagana Hai,
Ham Sab Ka Abhiman Hai Hindi,
Bharat Desh Ki Shan Hai Hindi. 

 

हिंदी दिवस सुविचार

Hum Sab Milkar De Samman,
Nij Bhasha Par Kare Abhiman,
Hindustan Ke Mathe Kr Bindi,
Jan-Jan Ki Aatma Bane Hindi.

 

हिंदी दिवस पर्व है

 Hindi Diwas Parv Hai,
Is Par Hume Garv hai,
Sammanit Humari Rastrabhasha,
Hum Sabki Hai Yahi Abhilasha. 

 

Waktaon की  है हिंदी भाषा,
लेखक का Abhiman है हिंदी भाषा,
भाषाओं के Sharish पर बैठी,
मेरी Payari हिंदी भाषा।
 

चलो Chhod दे दूजी भाषा,
हिंदी का Apman है,
लिखे Padhaye बोले गायें.
हिंदी अपनी Shan है।

 

अगर Bharat का करना है उत्थान,
तो हिन्दी को Apanana होगा,
English को "विषय-मात्र",
और हिंदी को "Anivary" बनाना होगा।

 

हिंदी दिवस

 Koi Bhi Rastra Apnai Bhasha Ko Chhodkar Rastra Nahi Kahla Sakta,
Bhasha Ki Raksha Seemaon Ki Raksha Se Bhi Jaruri Hai. 


एक दिन ऐसा भी आएगा हिंदी Parcham लहराएगा,
इस राष्ट्र भाषा का हर ज्ञाता Bharatvashi कहलाएगा।

 

Hindi Diwas के अवसर पर आओ पढ़ें और पढ़ायें,
हिंदी है हमारी Bhasha आओ इसे अपनाएं।


Mart Bhasha Ka Jo Karte Samman Hai,

Mart Bhasha Ka Jo Karte Samman Hai,
Wo Pate Har Jagah Samman Hai.

 

 हिंदी है भारत के Ekta और Akhandta की पहचान,
हिंदी ही तो है मेरे Desh की शान और जान।

 

वक्ताओं की ताकत Bhasha,
लेखक का अभिमान है Bhasha,
भाषों के शीर्ष पर बैठी मेरी प्यारी Hindi Bhasha।

 

जिसमें है मैंने Khwab बुने,
जिस से जुड़ी मेरी हर Aasha,
जिससे मुझे Pahachan मिली,
वो है Meri हिंदी भाषा।

 

हिंदी भाषा नहीं Bhavo की अभिव्यक्ति है,
यह मातृभूमि पर Mar मिटने की भक्ति है।

 

हिन्दी से Hindustan है,
तभी तो यह देश Mahan है,
निज भाषा की Unnnati के लिए अपना सब कुछ Kurban है।

 

हिन्दी मेरा Iaman है,
हिंदी मेरी Pahachan है,
हिन्दी हूँ मैं वतन भी मेरा Pyara Hindustan है।

 

भारत माँ के भाल पर सजी Swarnim बिंदी हूँ,
मैं भारत की Beti आपकी अपनी हिंदी हूँ।

 

हाथ में Tumhare देश की शान,
हिन्दी Apanakar तुम बनो महान।

 

निज भाषा Unnati अहै,
सब Unnati को मूल,
बिन Nij भाषा-ज्ञान के,
Matat न हिय को सूल।

 

हर कण में Basi है हिन्दी,
मेरी माँ की बोली भी Basi है इसमें,
मेरा Maan है हिंदी,
मेरी Shaan है हिन्दी।

 

एकता की Jaan है,
हिन्दी देश की Shaan है।


हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं


Post a Comment

0 Comments