Breaking

Tuesday, January 26, 2021

Home >> Love Shayari >> Pyar Bhari Shayari >> Romantic Shayari >> रोमांटिक शायरी >> Top 10 Best Romantic Shayari | कुछ बेहतरीन लव शायरी और प्रपोज़ शायरी

Top 10 Best Romantic Shayari | कुछ बेहतरीन लव शायरी और प्रपोज़ शायरी

Romantic Shayari in Hindi

Friends, boys or girls who are still in love with someone, often keep on reading romantic shayari and love shayari to express love to each other. Here the best romantic shayari, love shayari, romantic shayari with photos (images) are being shared here so that you can further enhance your love by sending them to each other.


Romantic shayari is a very good medium to express your love feelings. It can be shared to girlfriends / boyfriends / husband and wife.


Are you in love And want to express love to each other, if you want to say your heart, then you will surely like all the poetry given here.


Khoya Itna Kuchh Ki Phir Pana Na Aya

Some best love shayari and propose shayari

दोस्तों जो लड़के या लड़कियां अभी प्यार किसी से कर रहे हैं वे अक्सर रोमांटिक शायरी और लव शायरी को ढ़ढते रहते हैं एक दूसरे से प्यार का इजहार करने के लिये। यहां पर ऐसी ही बेहतरीन रोमांटिक शायरी, लव शायरी, रोमांटिक शायरी इमेजेज फोटोज के साथ यहां पर शेयर किया जा रहा है ताकि वे आप एक दूसरे को भेज कर आप अपने प्यार को और बढ़ाये। 


अपनी प्यार भरी भावनाओं को व्यक्त करने के लिये रोमांटिक शायरी एक बहुत अच्छा माध्यम होता है। इसे गर्लफ्रेंड / बॉयफ्रेंड / पति और पत्नी किसी को भी शेयर किया जा सकता है। 


क्या आप प्यार में है? और एक दूसरे को प्या का इज्हार करना चाहते हैं, अपनी दिल का बात कहना चाहते हैं तो यहां पर दी गई सभी शायरी आपको जरूर पसंद आयेगी। 


कुछ बेहतरीन लव शायरी और प्रपोज़ शायरी


Dhokhga ना देना की तुझपे Etabar बहुत है,

ये दिल तेरी चाहत का Labgar बहुत है,

तेरी Sural ना दिखे तो दिखाई कुछ नही देता,

हम क्या करें की तुझसे हमें Payr बहुत है



मेरी Yadon में तुम हो, या Mujhmen हे तुम हो,

मेरे Khayalon में तुम हो, या मेरा Khayal हे तुम हो,

दिल मेरा Dhadak के पूछे बार बार एक हे बात,

मेरी Jaan में तुम हो या मेरी जान तुम हो…


तेरे घाम को अपनी रूह में उतार लूंगा

ज़िंदगी तेरी चाहत में संवार लूंगा

मुलाक़ात हो तुझ से इश्स तरह

तमाम उमर बस एक मुलाक़ात में गुज़ार लूंगा


खामोश चेहरे पर हज़ारो पहरे होते हैं

हस्ती हुई आँखो में ज़ख़्म गहरे होते हैं

जिनको सदा के लिए भूल जाना अक्चा समझते हैं,

शायद उनसे ही दिल के रिश्ते गहरे होते हैं!


छुपा लून इस तरह तुझे अपनी बाहों मे

की हवा भी गुज़रने की इज़ाज़त माँगे

हो जौ इतना मदहोश तेरे प्यार मे

की होश भी आने की इज़ाज़त माँगे…


माना के Tum जीते हो ज़माने के लिए

एक बार जी के तो देखो Humare लिए

Dil की क्या औकात आपके सामने

हम तो Jaan भी दे देंगे आपको पाने के लिए…



तेरे मेरे रिश्ते को क्या नाम दें

ये नाम दें या वो नाम दें

इश्स दुनिया की भीड़ में नाम हो जाते हैं बदनाम

क्यूँ ना अपने रिश्ते को बेनाम हे रहने दें…


अपना Humsafar बना ले मुझे

तेरा ही Saya हू अपना ले मुझे

ये रात का Safar ओर भी Haseen हो जाएगा

तू आ जा मेरे Sapno मे या बुला ले मुझे…


सिर्फ़ इशारो में होती मोहब्बत अगर

इन अल्फाज़ों को खूबसूरती कौन देता

बस पत्थर बन के रह जाता “ताज महल”

अगर इश्क़ इसे अपनी पहचान ना देता…


तुझसे रूठने के बहाने तो बहुत हैं,

पर डरते है,

अगर तू मानने नही आया तो कहा जाएँगे हम…


Patthar समझ कर पाँव से Thokar लगा दी,

Afsos तेरी आँखों ने Parkha नहीं मुझे,

क्या Umeed बाँध कर आया था सामने,

उसने तो Aankh भर के देखा नहीं मुझे…



Pyar ना दिल से होता है ना Dimag से होता है

Pyar तो इत्तेफ़ाक़ से होता है

मगर Pyar करके प्यार हे मिले

ये Ittefak भी किसी किसी के साथ होता है…



Napharate लाख मिली पर Mohabbat ना मिली,

ज़िंदगी Beet गई मगर रहत ना मिली,

तेरी Mahaphil में हर एक को हंसता देखा,

एक मैं था जिसे हंसने की Ijajat ना मिली.


तेरे Kadamon में मारना भी और जीना भी

तेरा Pyar है दरिया भी और सफ़ीना भी

मेरी Najar में तो अब सब बराबर है

मेरे लिए तो Tu है काशी तू ही मदीना भी


कितने Door निकल गये रिश्ते निभाते निभाते

खुद को खो दिया हमने Apno को पाते पाते

लोग कहते हैं Dard है मेरे Dil में

और हम Thak गये मुस्कुराते मुस्कुराते….


वो मुझसे दूर रहकर Khush है तो रहने दो उसे,

मुझे चाहत से ज़्यादा उसकी Muskurahat पसंद है…


पल पल के Rishte का वादा है आपसे

Apanapan कुछ इतना ज़्यादा है आपसे

ना सोचना की Bhool गये हम आपको

Jindagi भर चाहेंगे ये वादा है आपसे


आदत बना ली मैने खुद को Taklif देने की,

ताकि जब कोई अपना Taklif दे तो ज़्यादा Taklif ना हो…


अपनी आखों के Samandar में उतार जाने दे

तेरा Mujrim हू मुझे डूब कर मर जाने दे

जख्म कितने तेरी Chahat से मिले हैं मुझको

Sochata हूँ काहु, फिर Sochata हू की छोड़ जाने दे



किन Lafjo में बयान करू अपने Dard को

सुनने वाले तो बहुत है समझने Wala कोई नही...


आए Jindagi

काश तू हे Rooth जतती मुझसे,

ये रूठे हुए लोग

मुझ से Manaye नहीं जाते...


हर Khushi से खूबसूरत तेरी Sham करू

अपना Pyar सिर्फ़ में तेरे नाम Karu

मिल जाए अगर Dobara ये ज़िंदगी

हर बार ये Jindagi में तेरे नाम करू



Rishte बनाने के लिए बस एक Pal चाहिए

पर उससे Nibhane के लिए एक Dil चाहिए

खेलता तो Sagar भी है Laharo से

पर उससे थमने के लिए भी Sahil चाहिए…


किसी ने कहा था Mohabbat फूल जैसी है,

कदम रुक गये आज जब फूलों को Bazar में बिकते देखा… 


Read Also: प्यार भरी शायरी


No comments:

Comments

Blog Archive

Contact Form

Name

Email *

Message *