Breaking

Tuesday, October 18, 2016

Home >> Anmol Vachan >> Hindi Suvichar >> Mahatma Buddha >> Meditation >> Activity of meditation - Dhyana

Activity of meditation - Dhyana

ध्यान कहां केन्द्रित करें?

अगर आप अपना ध्यान हर समय नकारात्मक सोच पर केन्द्रित करेंगे तो आपके साथ दुर्घटना घटित होने से कोई नहीं रोक सकता। उदाहरण- कार को तेज स्पीड में चलाते हुए हुए अगर आपकी कार नियंत्रण करने की कोशिश में फिसल जाती है और आप इससे बचने के लिए दीवार की तरफ देखते हैं, लेकिन अपने मन में नकारात्मक सोच रखे होने के कारण आप अपनी कार को दुर्घटनाग्रस्त कर बैठते हैं।

Activity of meditation - Dhyana - Suvichar

आपको डरने की जरूरत नहीं हैं, अपने जीवन को दीवार से दूर, आसमान की ऊंचाई तक की दिशा निर्धारित करके वहां ले जाएं। आप जो चाहते हों, उस पर ध्यान केन्द्रित करें न कि कहीं और। इससे आप प्राकृतिक तौर पर अपने आप कार्य करने लग जाएंगे। जो आपकी इच्छा है, जिसके आप लायक हो, उस पर ध्यान केन्द्रित करें।

सही प्रश्न- सही निर्णय-

एक दिन एक लड़के को स्कूल में उससे बड़ी क्लास में पढ़ने वाले लड़के ने पीट दिया। गुस्से में आकर उस लड़के ने उस बड़ी क्लास वाले लड़के से बदला लेने की ठान ली। वह लड़का घर से अपने पिता की पिस्तौल लाया और उस दूसरे लड़के पर तानकर खड़ा हो गया। लेकिन गोली चलाने से पहले उसने दिमाग में सवाल उठा कि अगर मैने उसे गोली मार दी तो उसके बाद मुझे तो जेल जाना पड़ेगा? उसकी आंखों के आगे जेल का पूरा भयानक दृश्य घूमने लगा। उसने उस लड़के को गोली मारने के बजाय खाली दीवार पर गोरी चला दी।

उस गोली चलाने वाले लड़के का नाम बो जैक्सन था, जिसने आगे चलकर खेलों की दुनिया में अपना नाम रोशन किया। थोड़ी सी समझ-बूझ ने दर्द को खुशी में बदल दिया। एक ऐसा लड़का, जिसका कोई भविष्य न था तथा दूसरे ही पल ऐसा लड़का जो बाद में चलकर खेलों का महान सितारा बना, में फर्क पैदा कर दिया। इसलिए अपने आपसे सही प्रश्न करें और अपने आपको बदलें।

ध्यान केन्द्रित करने की प्रक्रिया

आइए कुछ ऐसे उपायों की सूची बनाएं जिसमें आप सिगरेट, शराब, आदि का उपयोग किए बिना अपने मूड को बदल सकते हैं तथा अपने मस्तिष्क की सकारात्मक स्थिति में वृद्धि कर सकते हैं।
1.     उन बेस्ट उपायों को नोट करें जो आपकी नकारात्मक सोच को सकारात्मक सोच में बदल सकते हैं।
2.   उन नए विचारों और उपायों को भी इसमें शामिल कर लें जिन्हें आपने अभी तक आजमाया नहीं है। इससे आप निश्चित रूप से बेहतर महसूस करेंगे। जब तक आप 15 से 30 तक नए विचार न लिख लें तब तक रुकें नहीं। हालांकि इस विषय पर सैकड़ों स्वस्थ विचार लिखे जा सकते हैं। इन्हें अभी लिखने की कोशिश करें।
3.  प्रसन्न, आनन्ददायक तथा अच्छा महसूस करने के बहुत से तरीके हैं जिनमें से आप किसी एक को चुन सकते हैं।

4.   अपना कोई मनपसंद गाना सुनें, कोई कानों को प्यारी लगने वाली धुन बजाएं, कोई हंसी-मजाक वाली फिल्म या नाटक देखें, दोस्तों के साथ भोजन करें, फूलों से अपना घर सजाएं, अपने रजिस्टर में अपने अनुभव को लिखें, दोपहर को हल्की नींद लें, आदि।

No comments:

Comments

Blog Archive

Contact Form

Name

Email *

Message *