Friday, March 1, 2013

Kahane ko to-Geet aur Kavita-27


कहने को तो हम, खुश अब भी हैं हम तुम्हारे तब भी थे, हम तुम्हारे अब भी हैं  रूठने-मनाने के इस खेल में, हार गए हैं हम हम तो रूठे तब ही थे, आप तो रूठे अब भी हैं

Post a Comment

Featured post

What is Vastu Shastra? | वास्तु शास्त्र

वास्तु शास्त्र  वस्तु शास्त्र की जानकारी वास्तु शास्त्र से धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष की प्राप्ति- वास्तु शास्त्र ज्ञान-विज्ञान व क्रियात्...