AddToAny

Tuesday, April 21, 2020

अक्षय कुमार देश भक्त है और रहेंगे, ऐसा कहना कोई गलत नहीं

अक्सर मैने कुछ बुद्धीजीवियों को सोशल मीडियां पर यह कहते हुए सुना है कि अक्षय कुमार देश भक्त नहीं सिर्फ ढोंग कर रहे हैं। देखियों सबकी राय इसमें अलग अलग हो सकती है।

देख हमारी राय तो यह है कि एक ऐसा व्यक्ति जो भारत के लोगों की मदद करने के लिए हर वक्त आगे रहता हो वह हमेशा ही देश भक्त कहलाने का अधिकार रखता है, चाहे उसे किसी और देश की नागरिकता ही क्यों न मिल गई हो।

अक्षय कुमार देश भक्त है और रहेंगे, ऐसा कहना कोई गलत नहीं


आप मेरी राय पूछ रहे हैं..ठीक है,वो भी सुनिए!

मेरी राय:
बारीकी से देखें तो कुछ लोग जो भारत के होकर भी भारत के नही हैं क्योंक वे असहिष्णुता फैला रहे है। भारत में उन्हें डर लगने लगा है…और वहीं  दूसरी तरफ अक्षय कुमार बन्दा कनाडा का नागरिक हो कर भी दिल से सच्चा भारतीय प्रतीत होता है, जो आज भी अपने देश के प्रति उतने ही कृतज्ञ हैं। ये उपरोक्त बातें हम नहीं कह रहे, इनके काम बोल रहा है।

क्या किया है इन्होंने:
महाराष्ट्र में बाढ़ पीड़ित 180 परिवार को 90 लाख की मदद की इन्होंने।
चेन्नई में बाढ़ पीड़ितों के लिए 1 करोड़ का अनुदान दिया।

मुम्बई में महिला सशक्तिकरण हेतु मार्शल आर्ट्स का स्कूल खोला है इन्होंने, जिसमें अब तक 4000 बच्चियां सेल्फ डिफेंस सीख चुकी हैं।

खतरों के खिलाड़ी में एक प्रतियोगी के पिता कैंसर से पीड़ित थे, उसे तुरंत 25 लाख का चेक काट के दे दिया था इन्होंने।

भारतीय फिल्मों में स्टंट सीखाने वालों के बीमा हेतु हर वर्ष 36 लाख रुपये वो स्टंटमेन एसोसिएशन को देते हैं, ताकि उनके घर परिवार वालों का भविष्य सुरक्षित हो।
इन्होंने एक पंजाबी भक्ति गीत गाया “निर्गुण राख लिया” और उसे लांच किया। उससे जितनी भी कमाई हुई उसे 11 जुलाई 2006 के मुम्बई ट्रैन बम ब्लास्ट के पीड़ितों को अनुदान कर दिया।
अगस्त 2016, में अक्षय ने 80 लाख का अनुदान भारतीय सेना को दिया।
9 लाख शहीद सीमा सुरक्षा बल(BSF) के जवान गुरनाम सिंह के परिवार को दिया।
1.08 करोड़ का अनुदान केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल(CRPF) के शहीद जवानों के परिवार को दिया।
मुम्बई में एक ऐसे गाँव (विदर्भा,यवतमाळ, मुम्बई)को इन्होंने गोद लिया जहां के किसान आत्महत्या कर रहे थे, और उन्हें जरूरी राहत दी।

भारतीय सेना को सभी भारतीयों से कुछ अनुदान मिल सके, इसीलिए अक्षय कुमार ने “भारत के वीर” नामक ऐप्प लांच की थी और इसका प्रमोशन भी किया था। हाँ वही, जिसमें हमने और आपने,फरवरी में पैसा donate किया था।

भारत सरकार के स्वच्छ भारत अभियान को आगे बढ़ाते हुए इन्होंने मध्यप्रदेश के खरगोन जिले में स्त्री की स्मिता को बचाये रखने के लिए शौचालय बनवाये।

मार्च 2017 में 12 शहीद सीआरपीएफ जवानों के परिवार को 9-9 लाख (हरेक परिवार) की सहायता राशि प्रदान की।

हाल ही में पुलवामा अटैक में शहीद के परिवार वालों को 5 करोड़ रुपये की सहायता राशि प्रदान की।
अभी ओडिशा में “फानी” चक्रवाती तूफान द्वारा मचाये गए आतंक की क्षतिपूर्ति हेतु 1 करोड़ का अनुदान ओडिशा सरकार को दिया।

अक्षय कुमार ने दिये PM-CARES Fund में 25 करोड़ की राशि का सहयोग
अक्षय कुमार ने दिये PM CARES Fund में 25 करोड़ की राशि का सहयोग दिया और कहा कि ''यह वो समय है, जब सिर्फ़ लोगों की ज़िंदगी मायने रखती है और हमें हर वो काम करना है, जो ज़रूरी है, चाहे जो करना पड़े। मैं नरेंद्र मोदी जी के पीएम केयर्स फंड के लिए अपनी बचत से 25 करोड़ की राशि का सहयोग करता हूं। आइए, लोगों की जान बचाएं, जान है तो जहान है।''

अक्षय कुमार के कोरोनोवायरस के खिलाफ सरकार की लड़ाई के लिए दिये इस सहयोग का पीएम मोदी ने भी स्वागत किया और अक्षय कुमार के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा कि शानदार क़दम अक्षय कुमार। आइए स्वस्थ भारत के लिए दान करने का सिलसिला जारी रखें।

इन सब के बाद मैं तो इन्हें देशद्रोही या राष्ट्रद्रोही तो नहीं बोल सकता। और कोई बोले तो उसे आत्ममंथन करने की जरूरत है, कि कहीं वही तो गद्दार नहीं।

वैसे एक और ध्यान देने वाली बात, पहले अक्षय कुमार पर किसी ने ऐसा मुद्दा नहीं उठाया, लेकिन जैसे ही देश के प्रधानमंत्री मोदी जी का इन्होंने इंटरव्यू लिया, तो चमचों को यह तीखा लग गया।

आये दिन सोशल मीडिया पर अक्षय कुमार के विरोध में कुछ लोग ऐसे ऐसे ताने दे रहे हैं, जैसे कि वे ही सबसे बड़े देशभक्त हों। ये वही लोग हैं, जो सहायता राशि मे 100 रुपए दान करने के लिए भी 10 बार सोचेंगे। और दूसरों को देशभक्ति सिखाते हैं!

और हाँ, अगर आपको इतनी ही आपत्ति है तो आप 1–2 भारतीय पासपोर्ट वाले एक्टर्स के नाम बताईये, जिनका ओड़िसा चक्रवात में सहायता राशि दान करने में नाम आया है…हम भी देखें कितने देशभक्त हैं यहाँ पर!

No comments:

Sponsor


Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...