Note for you

"अगर आपके पास हिन्दी में अपना खुद का लिखा हुआ कोई Motivational लेख या सामान्य ज्ञान से संबंधित कोई साम्रगी जो आप हमारी बेबसाइट पर पब्लिश कराना चाहते है तो क्रपया हमें vinay991099singh@gmail.com पर अपने फोटो व नाम के साथ मेल करें ! पसंद आने पर उसे आपके नाम के साथ पब्लिश किया जायेगा ! "
क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये Site आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !  
Writers : - Indu Singh, Jyoti Singh & Vinay Singh

Search your topic...

Nakaratmak-Dristhikon-ko-dur-kare

नकारात्मक दृष्टिकोण को छोड़ें

हम विभिन्न परिस्थितियों को परिभाषित करने के लिए लगातार विभिन्न अलंकरणों का प्रयोग करते हैं जैसे जिंदगी एक जुआ है या एक युद्ध है, आदि। इस तरह के अलंकरण हमारी जिन्दगी के विभिन्न क्षेत्रों को प्रभावित करते हैं। अगर जीवन युद्ध होता तो जीना मुश्किल होता। इसका मतलब है कि आपके जीवन में युद्ध का अर्थ हारने या मारे जाने का प्रतीक है।

क्या प्राकृतिक ताल के साथ जिंदगी का गाना और नाचना भी हो सकता है? सफल व्यक्तियों की डिक्शनरी में नकारात्मक शब्द मुश्किल से ही ढूंढने पर मिलता है। शब्द भावनाओं को अधिक शक्तिशाली बनाते हैं। आप जैसे ही भावनाओं को शब्दों में व्यक्त करते हैं, तो यह आपकी भावना को एक अर्थ प्रदान करते हैं। जहां तक संभव हो अपने जीवन में सफलता की डगर पर चलने के लिए नकारात्मक शब्दों का इस्तेमाल करने से परहेज करें
Sakaratamak soch Rakhana Chahiye

भले ही देर से पर सफलता मिलती है

अपने मस्तिष्क में हमेशा दृढ़ता रखें। जरा स्टोन कटर के बारे में सोचें। किस प्रकार बड़े से बड़े पत्थर को वह दो भागों में बांट देता है? वह पूरी ताकत से इस पर प्रहार करता है। अगर पहले प्रहार से पत्थर पर निशान न भी पड़े तब भी प्रहार करता जाता है।

वह जानता है उसकी कोशिश बेकार हो रही है फिर भी वह मजबूती से अपने कार्य में लगा रहता है।

हमें परिणाम तुरंत नजर नहीं आया इसका यह मतलब नहीं कि कुछ घट नहीं रहा है।

पत्थर तोड़ने वाला लगातार प्रहार करता रहता है एक समय ऐसा आता है कि पत्थर टुकड़ों में बंट जाता है। क्या यह उसका आखिरी प्रहार था जिससे कार्य को अंजाम मिला निश्चित रूप से नहीं। यह प्रहारों का संयुक्त प्रभाव था जिससे पत्थर दो हिस्सों में टूट गया। दूसरे शब्दों में यह लगातार कोशिश ही थी जिससे आखिर में सफलता मिली।

अच्छा अनुभव करना कठिन नहीं

अगर आप जीवन में तकलीफ महसूस कर रहे हैं तो यह वर्तमान में किए जा रहे कार्य का या आपके सोचने के तरीके का परिणाम हो सकता है। हम इसे आपका रीतिशास्त्र कह सकते हैं।

अगर आप अपने महसूस करने के तरीके को पसंद नहीं करते तो अपने तरीके को बदलें या फिर अपनी कार्यशैली बदलें।
Sakaratmak Soch

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि ज्यादातर लोगों ने ऐसी परिस्थितियों का निर्माण खुद किया है जो उन्हें नकारात्मक पहलू महसूस कराती रहती हैं जबकि कुछ लोग सकारात्मक सोच के द्वारा अपना जीवन सुखद बनाते हैं।
तो क्यों नहीं आप सुखद महसूस करने के लिए प्यार करने, प्यार देने, सकारात्मक सोच और आनन्दपूर्वक जीवन जीने के आसान नियमों को अपनाएं।


सकारात्मक सोच अपनाएं ताकि जीवन में अधिक प्यार, सुख व आनंद प्राप्त हो सके।
Reactions:

0 Comments: