Sunday, March 15, 2015

Shiksha se sambandhit mahan vyaktiyon ke suvichar

शिक्षा से संबंधित महान व्यक्तियों के सुविचार



Jo Shksha Manushy Ko Sankirn Aur Swarthy Bana Deti Hai,

Yadi Ham Asaphalata Se Shiksha Prapt Karte Hain To Wah Saphalata Hi Hai.

Agar Manushy Kuchh Sikhana Chahe To Uski Har Bhool


1. Bachachon Ko Palana, Unhen Achchhe Vyavahar Ki Shiksha Dena Bhi Sevakary Hai, Kyonki Yah Unka Jiwan Sukhi Banta Hai. – Swami Ramsukhdas

2. Jo Shksha Manushy Ko Sankirn Aur Swarthy Bana Deti Hai, Uska Muly Kisi Yug Men Chahe Jo Raha Ho, Ab Nahi  Hai. – Sharatchandra Chattopadhyay

3. Shiksha Aur Prashikshan Ka Ekmatra Uddeshy Samasya Samadhan Hona Chahiye. 

4. Shiksha Ki Jade Bhale Hi Kadavi Ho, Iske Phal Mithe Hote Hain.

5. Jab Aap Kuchh Ganva Baithate Hain, To Usase Prapt Shiksha Ko Na Ganvayen.

6. Khali Dimag Ko Khula Dimag Bana Dena Hi Shiksha Ka Uddeshy Hai. 

7. Yadi Ham Asaphalata Se Shiksha Prapt Karte Hain To Wah Saphalata Hi Hai.

8. Shiksha ka dhyey hai ek khali dimag ko khule dimaag men badalana.

9. Shiksha Kisi Ghade Bharane Jaisa Nahi Hai, Yah To Again Prajjavalit Karne Jaisa Hai.

10. Agar Manushy Kuchh Sikhana Chahe To Uski Har Bhool Use Kuchh Na Kuchh Shiksha Jaroor De Sakti Hai.

Shop Online   Bed linen    |    Bed Sheets    |    Bath Towels

Saturday, March 14, 2015

Shiksha se sambandhit Suvichar

शिक्षा से संबंधित सुविचार


Anubhav Prapti Ke Liye Kaphi Muly Chukana Pad Sakata Hai


Charitrahin Shiksha, Manavata Vihin Vigyan Aur Naitikta Vihin Vyapar Khatarnak Hote Hain.


Jo Kala Aatma Ko Aatmdarashan Ki Shiksha Nahi Deti, Wah Kala Nahi.


Kasht Aur Vipatti Manushy Ko Shiksha Dene Vale Shresth Gun Hain




1. Logon Ko Chahiye Ki Is Jagat Men Manushyata Dharan Kar Uttam Shiksha, Achchha Swabhav, Dharm, Yogyabhyas Aur Vigyan Ka Samyak Grahan Karke Sukh Ka Prayatn Karen, Yahi Jiwan Ki Saphalata Hai.

2. Jo Kala Aatma Ko Aatmadarshan Karane Ki Shiksha Nahi Deti Wah Kala Nahi Hai.- mahatma gandhi

3. Anubhav Prapti Ke Liye Kaphi Muly Chukana Pad Sakata Hai Par Usse Jo Shiksha Milati Hai Wah Aur Kahi Nahi Milati.

4. Anubhav Prapti Ke Liye Kaphi Muly Chukana Pada Sakata Hai Par Usse Jo Shiksha Milati Hai Wah Aur Kanhi Nahi Milati.

5. Kitaben Aisi Shikshak Hain Jo Bina Kasht Diye, Bina Aalochan Kiye Aur Bina Pariksha Liye Hamen Shiksha Deti Hain.

6. Charitrahin Shiksha, Manavata Vihin Vigyan Aur Naitikta Vihin Vyapar Khatarnak Hote Hain.

7. Sara Hindustani Gulami Men Ghira Hua Nahi. Jihone Pashchmi Shiksha Paee Hai Aur Jo Uske Paash Men Phans Gaye Hain, Ve Hi Gulamen Ghire Hye Hain. - mahatma gandhi

8. Jo Kala Aatma Ko Aatmdarashan Ki Shiksha Nahi Deti, Wah Kala Nahi. - mahatma gandhi

9. Kasht Aur Vipatti Manushy Ko Shiksha Dene Vale Shresth Gun Hain, Jo Sahas Ks Sath Unka Saamana Karte Hain, Ve Vijayee Hote Hain.

10. Svadeshi Udyog, Shiksha, Chikitsa, Gyan, Khanpan, Bhasha, Veshbhusha Evam Svabhiman Ke Bina Vishv Ka Koi Bhi Desh Mahan Nahi Ban Sakta. – swami ram dev

11. Meri Sari Shiksha Do Shabdo Ki Hain Prem Aur Dhyan.

12. Gyan prapti ke ek hi maarg jiska naam hain, ekagrata. Shiksha ka saar hai, man ko ekagr karna, tathyon ka sangrah karna nahi.



Shop Online   Bed linen    |    Bed Sheets    |    Bath Towels

Thursday, March 12, 2015

Shiksha se sambandhit suvichar | सुविचार और अनमोल वचन

शिक्षा से संबंधित सुविचार

Education Anmol Vachan in Hindi

Shiksha Jiwan Ki Pristhitiyon ke samana karne ki yogyata ke naam hai.
Vidhya Amulya Aur Anshwar Dhan hai.



Manav swabhav ka gyan hi raajnitik shiksha ka aadi aur ant hai.



Saamajik Aur Dharmik Shiksha vyakti ko naitikata evam anaitikata ka path padati hai.




 Shiksha ke Anmol Vachan:

1. Shiksha Jiwan Ki Pristhitiyon ke samana karne ki yogyata ke naam hai.  


2. Bachchon ko Shikshit karna to jaroori hai hi, Unhe ahve aap ko shikshit karne ke liye chhod dena hi jaroori hai.


3. Sansar men jitane prakar ki praptiyan hain, Shiksha sab se badakar hai.


4. Shiksha jiwan ki taiyari ka shikshan kaal hai.


5. Yuvako ki shiksha par hi rajy aadhaarit hai.


6. Vidhya Amulya Aur Anshwar Dhan hai.


7. Yadi Manushy Sikhna Chahe To Ushki Har Bhool Ushe Kuchh Shiksha De sakti hai.


8. Jiwan ka rahasy bhog men nahi, par anubhav ke dwara shiksha prapti men hai.


9. Kast aur vipatti manushy ko shiksha dene wale shreth gun hain.


10. Chanav janta ko rajnitik shiksha dene ka vishvidhayala hai.


11. Manav swabhav ka gyan hi raajnitik shiksha ka aadi aur ant hai.


12. Charitrhin shiksha, Manavatavihin vigyan aur naitikatavihin vyavahar khatanak hote hain.


13. Apna Aadarsh Upasthit karke hi doosaron ko sachchi shiksha di ja sakti hai.


14. Kamajori ka ilaaj kamjori ka vichar karna nahi, Par shakti ka vichar karna hai. Manushayon ko Shakti do, Jo pahale Unmen hai.    


15. Jiwan Ek paathshala hai, Jismen Anubhavon ke aadhar par ham shiksha prapt karte hain.


16. Jaise Kore kaagaj par hi patra likhe ja sakte hain, Likhe hue par nahin, Usi prakar nirmal antkaran par hi yog shiksha aur saadhana ankit ho sakti hai.        


17. Saamajik Aur Dharmik Shiksha vyakti ko naitikata evam anaitikata ka path padati hai.               


18. Manushya ko uttam shiksha uchch savabhav, dharm, yogabhyas aur vigyan ka saarthak grahan karke jiwan men saphalata prapt karni chahiye.


19. Pratikool paristhitiyon karke hi doosaron ko sachchi shiksha di ja sakti hai.


20. Shiksha ka sthan skool ho sakte hain, Par diksha ka sthan to ghar hi hai.

Sunday, March 1, 2015

Happy holi 2015

होली में मोज-मस्ती और इसके गुणकारी प्रभाव


होली के त्योहार शुरू होते ही शिशिर ऋतु समाप्त हो जाती है और वसंत ऋतु आ जाता है। प्राकृतिक रूप से देखे तो शिशिर ऋतु में ठंड होता है और बसंत ऋतु में सुहानी धूप खिली रहती है। यह त्योहार न केवल मौज-मस्ती से युक्त होती है बल्कि यह मेल मिलाप का त्योहार होता है वैसे देखा जाये तो इस त्योहार वैज्ञानिक महत्व भी है। बहुत से वैज्ञानिक कहते हैं कि यह पर्यावरण और मानवीय सेहत के लिए गुणकारी त्योहार होता है।
होली साल में ऐसे वक्त पर मनाया जाता है जब मौसम में बदलाव होते दिखाई पड़ते हैं। ठंड जब गरम रूप में बदलता है तो शरीर में थकान और सुस्ती महसूस होती है। लोग शरीर की इस प्रकार की सुस्ती को मिटाने के लिए न केवल जोर से गाते हैं बल्कि बोलते भी और नाच गान करते हैं जिसकी वजह से शरीर का व्यायाम भी जाता है और इस क्रिया से शरीर जल्द ही ठंड से गरम में बदल जाता है या शरीर अपने आपको इस मौसम के अनुकूल बना लेता है।
बहुत से जीव वैज्ञानिकों का कहना है कि अबीर या गुलाल त्वचा को उत्तेजित करते हैं और पोरों में रम जाते हैं तथा शरीर के आयन मंडल को मजबूत तथा स्वास्थ्य बनाते हैं। जिस कारण से शरीर की सुन्दरता बड़ जाती है।
कुछ वैज्ञानिक तो यह भी मनते हैं कि रंगों से खेलने के कारण मन पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और मानसिक स्वास्थ्य मजबूत होती है।
लोग इस समय पर आपने घर और इसके आस पास साफ सफाई करते हैं जिसकी वजह से कई प्रकार से मच्छरों तथा कीटाणुऔं का भी सफाया हो जाता है और कई प्रकार के रोगों का नाश भी हो जाता है। साफ सफाई की वजह से लोगों को सुखद अहसास भी होता है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बड़ जाती है। इसलिए कहा जा सकता है कि यह त्योहार स्वास्थ्य की दृष्टि से लाभप्रद है। 

होली के कुछ नगमें:


लाल, गुलाबी, नीला, पीला हाथों में लिया समेट,

होली के दिन रंगेंगे सजनी करके मिठी भेंट।


I wish you to have life as colorful and joyous as the holi festival.

पिचकारी की धार, गुलाल की बोछार, अपनो का प्यार,
यही है होली का त्योहार! हैपी होली 2015 आप सभी को।

रंगों से भी रंगिन जिंदगी है हमारी, रंगीली रहे ये बंदगी हमारी,
कभी न बिगड़े प्यार की रंगोली, आये मेरे यार ऐसी हैपी होली।

May the vivid colors of the holi decorate your life and family with hues of happiness and fun.


गुल ने गुलशन से गुलफाम भेजा है,
सितारों ने आसमान से सलाम भेजा है,
हमने दिल से ये पैगाम भेजा है,
मुबारक हो आपको होली का त्योहार।

Khale Gujiya uar peele thodi Thandai, Sundar lage tu rangon men nahayee


रंगो के त्योहार में सभी रंगो का हो भरमार,
ढेर सारी खुशियों से भरा हो आपका संसार,
यही दुआ है भगवान से हमारी हर बार,
होली मुबारक हो मेरे यार!

रंगो में घुली लड़की क्या लाल गुलाबी है,
जो देखता है कहता है क्या माल गुलाबी है,
पिछले बरस तुने जो भिगोया था होली में,
अब तक  निशानी का वो रूमाल गुलाबी है।
हैपी होली 2015!

Holi men sabhi rangon ke sath apko holi mubarak ho.


चड़ेंगे जब प्यार रंग, एक मेरी दोस्ती का रंग भी चढ़ाना,
लगने लगेंगे तुम्हे सुहाने सारे रंग,
और मेरी दोस्ती का रंग चमकेगा हरदम तुम्हारे संग.
बोलो सरेरररररररर.....
हैपी होली 2015!

अपने दिल का हाल बताना छोड़ दिया,
हमने भी गेहराई में जाना छोड़ दिया,
होली से पहले ही आपने नहाना छोड़ दिया।
होली मुबारक हो 2015

Sending your way, a warm wishes especially on holi to add color of joy to your life.


रंगो से भी रंगीन है जिंदगी हमारी,
रंगीली रहे ये बंदगी हमारी,
कभी ना बिगड़े ये प्यार की रंगोली,
अये मेरे यार ऐसी रहे हमारी होली।

होली के दिन की ये मुलाकात याद रहेगी,
रंगो की ये बरसात याद रहेगी,
आप को मिले रंगीन दुनियां ऐसे हमेशा
ये मेरी दुआ रहेंगी।
होली की हार्दिक शुभकामनाएं।

Here's wishing you a holi filled with sweet moments and colorful memories to cherish forever...

आज की दुनियां बहुत एडवांस है,
इसी एडवांस दुनियां में रहने वाले
एक एडवांस बंदे की तरफ से
आपको एडवांस में होली मुबारक हो।

पुनम की चांद, रंगो की डोली, चांद से उसकी चांदनी बोली, 
खुशियों से भर दे सबकी झोली, मुबारक हो आपको होली।

Khushiyon se bhar de sabki jholi, Mubarak ho apko holi.

गुजिया का महक आने से पहले,
रंगो में नहाने से पहले,
होली के नशे में गुम होने से पहले,
हम आपसे कहते है हैपी होली सबसे पहले।

बहादुर कभी छुप कर वार नहीं करते,
कायर कभी शेर का शिकार नहीं करते,
हैपी होली कहने के लिए,
हम किसी का इंतेजार नहीं करतें,
होली मुबारक हो आप सभी को।

Let the colors of holi spread the message of peace and happiness.

हवाओं के हाथ अरमान भेजा है,
Network के जरिये पेगाम भेजा है,
पहले मिले तो कबुल कर लेना,
हमने आपको सबसे पहले होली का राम राम भेजा है।

कुछ दिन बाद आप लाल, पीले, हरे, काले हो जायेंगे,
घबराओ नहीं यार कुछ दिन बाद होली है,
और याद रखो कि मैं पहला व्यक्ति हूं,
जिसने सबसे पहले आपको होली wish की है।

होली लाई सतरंगो की बोछार लाई,
ढेर सारी मिठी और मिठा मिठा प्यार लाई,
आप की जिंदगी हो मिठे प्यार और खुशियां से भरी,
जिसमें समाये सातों रंग यही शुभकामनाएं है हमारी।

हर साल आता है एक दिन सबसे सुहाना,
झुमता है दिल और गाता है कोई गाना,
खुशी के इस दिन पर तुम बस मुसकुराना,
और आने वाले कल का लिए सपने सजाना।
होली मुबाराक 2015

होली रंगून का त्योहार है, दुनियां रंग बिरंगी है,
मैं होली के दिन अपने सारे दोस्तों को,
होली की बहुत बहुत शुभकामनाएं देता हूं,
और यही दुआ करता हूं की दुनियां में प्यार और अमन बना रहें,
इसी तरह दिल से दिल मिलता रहें,
लोगों में प्यार बड़ता रहें, हैपी होली।

Featured post

What is Vastu Shastra? | वास्तु शास्त्र

वास्तु शास्त्र  वस्तु शास्त्र की जानकारी वास्तु शास्त्र से धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष की प्राप्ति- वास्तु शास्त्र ज्ञान-विज्ञान व क्रियात्...