Friday, April 5, 2013

Chanakya Suvichar- चाणक्य पाटलिपुत्र

We should not fret for what is past, nor should we be anxious about the future; men of discernment deal only with the present moment.

पहले पाच सालों में अपने बच्चे को बड़े प्यार से रखिये . अगले पांच साल उन्हें डांट-डपट के रखिये. जब वह सोलह साल का हो जाये तो उसके साथ एक मित्र की तरह व्यव्हार करिए.आपके  व्यस्क बच्चे ही आपके सबसे अच्छे मित्र हैं.-चाणक्य

There is some self-interest behind every friendship. There is no friendship without self-interests. This is a bitter truth.

The fragrance of flowers spreads only in the direction of the wind. But the goodness of a person spreads in all direction.-Chanakya

हमें भूत के बारे में पछतावा नहीं करना चाहिए, ना ही भविष्य के बारे में चिंतित होना चाहिए ; विवेकवान व्यक्ति हमेशा वर्तमान में जीते हैं.

फूलों की सुगंध केवल वायु की दिशा में फैलती  है. लेकिन एक व्यक्ति की अच्छाई हर दिशा में फैलती है.-चाणक्य
Post a Comment

Featured post

NBRI ने जारी की प्रदूषण कम करने वाले पौधों की सूची

घरों में लगाएं ये पौधे, कम होगा प्रदूषण का स्तर ये पौधे प्रदूषण और लोगों के स्वास्थ्य के बीच एक बैरियर का काम करेंगे। पौधे लोगों को न सि...