Saturday, April 27, 2013

Bhagwan Gautam Buddha Anmol Vichar-2

Bhagwan Gautam Buddha Anmol Vichar

जैसे मोमबत्ती बिना आग के नहीं जल सकती , मनुष्य भी आध्यात्मिक जीवन के बिना नहीं जी सकता.
हजारों खोखले शब्दों से अच्छा वह एक शब्द है जो शांति लाये.-भगवान गौतम बुद्ध
अपने मोक्ष के लिए खुद ही प्रयत्न करें. दूसरों पर निर्भर ना रहे. 
All wrong-doing arises because of mind. If mind is transformed can wrong-doing remain?-भगवान गौतम बुद्ध
वह जो पचास लोगों से प्रेम करता है उसके पचास संकट हैं, वो  जो किसी से प्रेम नहीं करता उसके एक भी संकट नहीं है. 
सभी बुरे कार्य  मन के कारण उत्पन्न होते हैं. अगर मन परिवर्तित हो जाये तो क्या अनैतिक कार्य रह सकते हैं?-भगवान गौतम बुद्ध
Post a Comment

Featured post

What is Vastu Shastra? | वास्तु शास्त्र

वास्तु शास्त्र  वस्तु शास्त्र की जानकारी वास्तु शास्त्र से धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष की प्राप्ति- वास्तु शास्त्र ज्ञान-विज्ञान व क्रियात्...