Jinke Dil men-Geet aur Kavita-23


जिनके दिल में गुबार रहते हैं यार वो बादाख़्वार रहते हैं  कि जहाँ ओहदेदार रहते हैं लोग उनके शिकार रहते हैं  पढ़ते लिखने में जो भी अव्वल थे अब तो वो भी बेकार रहते हैं

No comments:

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...