Friday, March 1, 2013

Har sitam Har julm-Geet aur kavita-22


हर सितम हर ज़ुल्म जिसका आज तक सहते रहे हम उसी के वास्ते हर दिन दुआ करते रहे  दिल के हाथों आज भी मजबूर हैं तो क्या हुआ मुश्किलों के दौर में हम हौसला रखते रहे  बादलों की बेवफ़ाई से हमें अब क्या गिला हम पसीने से ज़मीं आबाद जो करते रहे

Post a Comment

Featured post

What is Vastu Shastra? | वास्तु शास्त्र

वास्तु शास्त्र  वस्तु शास्त्र की जानकारी वास्तु शास्त्र से धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष की प्राप्ति- वास्तु शास्त्र ज्ञान-विज्ञान व क्रियात्...