Thursday, February 28, 2013

Jo patthar tumne mara-Geet aur Kavita-11


जो पत्थर तुमने मारा था मुझे नादान की तरह उसी पत्थर को पूजा है किसी भगवान की तरह  तुम्हारी इन उँगलियों की छुअन मौजूद है उस पर उसे महसूस करता हूँ किसी अहसान की तरह

Post a Comment

Featured post

What is Vastu Shastra? | वास्तु शास्त्र

वास्तु शास्त्र  वस्तु शास्त्र की जानकारी वास्तु शास्त्र से धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष की प्राप्ति- वास्तु शास्त्र ज्ञान-विज्ञान व क्रियात्...