Note for you

"अगर आपके पास हिन्दी में अपना खुद का लिखा हुआ कोई Motivational लेख या सामान्य ज्ञान से संबंधित कोई साम्रगी जो आप हमारी बेबसाइट पर पब्लिश कराना चाहते है तो क्रपया हमें vinay991099singh@gmail.com पर अपने फोटो व नाम के साथ मेल करें ! पसंद आने पर उसे आपके नाम के साथ पब्लिश किया जायेगा ! "
क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये Site आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !  
Writers : - Indu Singh, Jyoti Singh & Vinay Singh

Search your topic...

Jo patthar tumne mara-Geet aur Kavita-11


जो पत्थर तुमने मारा था मुझे नादान की तरह उसी पत्थर को पूजा है किसी भगवान की तरह  तुम्हारी इन उँगलियों की छुअन मौजूद है उस पर उसे महसूस करता हूँ किसी अहसान की तरह

Reactions:

0 Comments: